To Get Fast Updates Download our AppsAndroid | Whatsapp | Telegram

भारत के मुख्य न्यायाधीशों के नाम, उनकी योग्यताएँ एवं कार्यकाल अवधि (1950-2017)

भारतीय सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीशों की सूची (1950-2017) : (List of Chief Justices of India in Hindi)

भारत में अब तक 45 लोगों ने देश के मुख्य न्यायाधीश के रूप में सेवा की है। जस्टिस दीपक मिश्रा भारत के वर्तमान मुख्य न्यायाधीश हैं। जस्टिस दीपक मिश्रा 28 अगस्त 2017 से भारत के मुख्य न्यायाधीश का पदभार संभाल रहे हैं। भारत के 44वें मुख्य न्यायाधीश जगदीश सिंह केहर 27 अगस्त 2017 को सेवानिवृत्त हो गए। जस्टिस जगदीश सिंह खेहर सिख समुदाय के पहले जस्टिस थे।

जस्टिस दीपक मिश्रा 03 अक्टूबर, 2018 तक इस पद पर रहेंगे। जस्टिस दीपक मिश्रा भारत के मुख्य न्यायाधीश बनने वाले वह ओडिशा की तीसरे न्यायाधीश होंगे। दीपक मिश्रा से पहले ओडिशा के जस्टिस रंगनाथ मिश्रा और जी.बी. पटनायक भी मुख्य न्यायाधीश पद पर रह चुके हैं। जस्टिस दीपक मिश्रा याकूब मेमन पर दिए गए फैसले के कारण चर्चा में रहे थे। भारत के पहले मुख्य न्यायाधीश के रूप में एच. जे. कनिया ने 26 जनवरी 1950 को शपथ ली थी।

यहाँ पर वर्ष 1950 से अब तक नियुक्त हुए भारत के सभी मुख्य न्यायाधीशों के नाम उनकी योग्यताएँ, उनका कार्यकाल एवम कुल अवधि के बारे सम्पूर्ण जानकारी दी गयी है।

भारत के मुख्य न्यायाधीशों की सूची (वर्ष 1950 से अब तक):-

क्रमांक नाम अवधि कुल अवधि (दिनों में) अदालत नियुक्ति
1 एच. जे. कनिया 26 जनवरी 1950 06 नवम्बर 1951 649 मुंबई उच्च न्यायालय राजेंद्र प्रसाद
2 एम. पी. शास्त्री 07 नवम्बर 1951 03 जनवरी 1954 788 मद्रास उच्च न्यायालय
3 मेहरचंद महाजन 04 जनवरी 1954 22 दिसम्बर 1954 352 पूर्वी पंजाब उच्च न्यायालय
4 बी. के. मुखरीजा 23 दिसम्बर 1954 31 जनवरी1956 404 कोलकाता उच्च न्यायालय
5 एस. आर. दास 01 फ़रवरी 1956 30 सितम्बर 1959 1337 कोलकाता उच्च न्यायालय
6 बी. पी. सिन्हा 01 अक्टूबर 1959 31 जनवरी 1964 1583 पटना उच्च न्यायालय
7 पी. बी. गजेन्द्रगढ़कर 01 फ़रवरी 1964 15 मार्च 1966 773 मुंबई उच्च न्यायालय एस. राधाकृष्णन
8 ए. के. सरकार 16 मार्च 1966 29 जून 1966 105 कोलकाता उच्च न्यायालय
9 के. एस. राव 30 जून 1966 11 अप्रैल 1967 285 मद्रास उच्च न्यायालय
10 के. एन. वान्चू 12 अप्रैल 1967 24 फ़रवरी 1968 318 इलाहाबाद उच्च न्यायालय
11 एम. हिदायतुल्ला 25 फ़रवरी 1968 16 दिसम्बर 1970 1025 मुंबई उच्च न्यायालय ज़ाकिर हुसैन
12 जे. सी. शाह 17 दिसम्बर 1970 21 जनवरी 1971 35 मुंबई उच्च न्यायालय वी. वी. गिरी
13 एस. एम. सिकरी 22 1971 25 अप्रैल 1973 824 लाहौर उच्च न्यायालय
14 ए. एन. रे 26 अप्रैल 1973 27 जनवरी 1977 1372 कोलकाता उच्च न्यायालय
15 मिर्जा हमीदुल्ला बेग 28 जनवरी 1977 21 फ़रवरी 1978 389 इलाहाबाद उच्च न्यायालय फखरुद्दीन अली अहमद
16 वाई. वी. चंद्रचूड़ 22 फ़रवरी 1978 11 जुलाई 1985 2696 मुंबई उच्च न्यायालय नीलम संजीव रेड्डी
17 पी. एन. भगवती 12 जुलाई 1985 20 दिसम्बर 1986 526 गुजरात उच्च न्यायालय ज़ैल सिंह
18 आर. एस. पाठक 21 दिसम्बर 1986 18 जून 1989 940 इलाहाबाद उच्च न्यायालय
19 ई. एस. वेंकटरमैय्या 19 जून 1989 17 दिसम्बर 1989 181 कर्नाटक उच्च न्यायालय रामास्वामी वेंकटरमण
20 एस. मुखर्जी 18 दिसम्बर 1989 25 सितम्बर 1990 281 कोलकाता उच्च न्यायालय
21 रंगनाथ मिश्र 26 सितम्बर 1990 24 नवम्बर 1991 424 उड़ीसा उच्च न्यायालय
22 के. एन. सिंह 25 नवम्बर 1991 12 दिसम्बर 1991 17 इलाहाबाद उच्च न्यायालय
23 एम. एच. कनिया 13 दिसम्बर 1991 17 नवम्बर 1992 340 मुंबई उच्च न्यायालय
24 एल. एम. शर्मा 18 नवम्बर 1992 11 फ़रवरी 1993 85 पटना उच्च न्यायालय शंकर दयाल शर्मा
25 एम. एन. वेंकटचेलैय्या 12 फ़रवरी 1993 24 अक्टूबर 1994 619 कर्नाटक उच्च न्यायालय
26 ए. एम. अहमदी 25 अक्टूबर 1994 24 मार्च 1997 881 गुजरात उच्च न्यायालय
27 जे. एस. वर्मा 25 मार्च 1997 17 जनवरी 1998 298 मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय
28 एम. एम. पुंछी 18 जनवरी 1998 09 अक्टूबर 1998 264 पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के. आर. नारायणन
29 ए. एस. आनंद 10 अक्टूबर 1998 11 जनवरी 2001 824 जम्मू और कश्मीर उच्च न्यायालय
30 एस. पी. भरुचा 11 जनवरी 2001 06 मई 2002 480 मुंबई उच्च न्यायालय
31 बी. एन. कृपाल 06 मई 2002 08 नवम्बर 2002 186 दिल्ली उच्च न्यायालय
32 जी. बी. पटनायक 08 नवम्बर 2002 19 दिसम्बर 2002 41 उड़ीसा उच्च न्यायालय ऐ. पी. जे. अब्दुल कलाम
33 वी. एन. खरे 19 2002 02 मई 2004 500 इलाहाबाद उच्च न्यायालय
34 राजेन्द्र बाबू 02 मई 2004 01 जून 2004 30 कर्नाटक उच्च न्यायालय
35 आर. सी. लहोटी 01 जून 2004 01 नवम्बर 2005 518 मध्य प्रदेश उच्च न्यायालय
36 वाई. के. सभरवाल 01 नवम्बर 2005 13 जनवरी 2007 438 दिल्ली उच्च न्यायालय
37 के. जी. बालकृष्णन 13 जनवरी 2007 11 मई 2010 1214 केरल उच्च न्यायालय
38 एस. एच. कापड़िया 12 मई 2010 28 2012 870 मुंबई उच्च न्यायालय प्रतिभा पाटिल
39 अल्तमास कबीर 29 सितम्बर 2012 18 जुलाई 2013 292 कोलकाता उच्च न्यायालय प्रणब मुखर्जी
40 पी. सतशिवम 19 जुलाई 2013 26 अप्रैल 2014 281 मद्रास उच्च न्यायालय
41 राजेन्द्र मल लोढ़ा 26 अप्रैल 2014 27 सितम्बर 2014 153 राजस्थान उच्च न्यायालय
42 एच. एल. दत्तु 28 सितम्बर 2014 02 दिसम्बर 2015 584 कर्नाटक उच्च न्यायालय
43 तीरथ सिंह ठाकुर 03 दिसम्बर 2015 03 जनवरी 2017 146 जम्मू और कश्मीर उच्च न्यायालय
44 जगदीश सिंह खेहर 04 जनवरी 2017 27 अगस्त 2017 कर्नाटक उच्च न्यायालय रामनाथ कोविंद
45 दीपक मिश्रा 28 अगस्त 2017 से अब तक दिल्ली उच्च न्यायालय

नोट:  यह लिस्ट 28 अगस्त 2017 को अपडेट की गयी है।

इन्हें भी पढ़े:मिस वर्ल्ड विजेताओं के नाम, वर्ष और उनके देश वर्ष 1951 से अब तक Miss World Winners List in Hindi 

 

उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश की नियुक्ति:
उच्चतम न्यायालय के सभी न्यायाधीशों की नियुक्ति भारत के राष्ट्रपति द्वारा उच्चतम न्यायालय के परामर्शानुसार की जाती है। सर्वोच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश इस प्रसंग में राष्ट्रपति को परामर्श देने से पूर्व अनिवार्य रूप से चार वरिष्ठतम न्यायाधीशों के समूह से परामर्श प्राप्त करते हैं तथा इस समूह से प्राप्त परामर्श के आधार पर राष्ट्रपति को परामर्श देते हैं।
अनुछेद  124 के अनुसार मुख्य न्यायाधीश की नियुक्ति करते समय राष्ट्रपति अपनी इच्छानुसार सर्वोच्च न्यायालय के न्यायाधीशों की सलाह लेगा। वहीं अन्य जजों की नियुक्ति के समय उसे अनिवार्य रूप से मुख्य न्यायाधीश की सलाह माननी पडेगी।

उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश की योग्यताएँ:

  • व्यक्ति भारत का नागरिक हो।
  • कम से कम पांच साल के लिए उच्च न्यायालय का न्यायाधीश या दो या दो से अधिक न्यायालयों में लगातार कम से कम पांच वर्षों तक न्यायाधीश के रूप में कार्य कर चुका हो।
  • किसी उच्च न्यायालय या न्यायालयों में लगातार दस वर्ष तक अधिवक्ता रह चुका हो।
  • वह व्यक्ति राष्ट्रपति की राय में एक प्रतिष्ठित विधिवेत्ता होना चाहिए।
  • उच्चतम न्यायालय का न्यायाधीश बनने हेतु किसी भी प्रदेश के उच्च न्यायालय में न्यायाधीश का पांच वर्ष का अनुभव होना अनिवार्य है और वह 62 वर्ष की आयु पूरी न किया हो।

कार्यकाल:
भारतीय सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीशों की सेवानिवृत्ति की आयु 65 वर्ष होती है। न्यायाधीशों को केवल (महाभियोग) दुर्व्यवहार या असमर्थता के सिद्ध होने पर संसद के दोनों सदनों द्वारा दो-तिहाई बहुमत से पारित प्रस्ताव के आधार पर ही राष्ट्रपति द्वारा हटाया जा सकता है।

Updated: November 23, 2017 — 19:29

2 Comments

Add a Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Maru Gujarat : Gujarat Govt jobs © 2017

તાજેતર ની અપડૅટ માટે Email-id આપો

Signup for our newsletter and get notified when we publish new articles for free! Go To Your Mail And Click Activate Link